Advisory for the management of Top shoot borer of Sugarcane in western Uttar Pradesh           International Conference on Sustainability of the Sugar and Integrated Industries: Issues and Initiatives (SUGARCON-2022) For more details Click Here           इक्षु केदार (गन्ने की सिंचाई में बचत के लिए मोबाइल ऐप्प)           Link to AICRP Reporter           Email addresses of IISR, Lucknow officials          

 

IISR News


Brainstorming on Status of Red Rot Disease of Sugarcane in India and its Management Organised


भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ में अन्नदाता देवो भव: अभियान कार्यक्रम आयोजित


Delegation from Karnataka visited IISR, Lucknow


Training Programme on Establishment Matters for LDC and UDC of ICAR organised


Chief Secretary, UP visited ICAR-IISR and KVK, ucknow


संस्थान में हिंदी पखवाड़ा का आयोजन संपन्न हुआ


इक्षु को राजभाषा कीर्ति पुरस्कार एवं संस्थान के डॉ शिव नायक सिंह, प्रधान वैज्ञानिक एवं डॉ. अश्विनी दत्त पाठक, निदेशक को राजभाषा गौरव पुरस्कार


भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली द्वारा तीन प्रतिष्ठित पुरस्कार संस्थान को मिले।


ICAR-IISR holds National Webinar on Water Productivity for Profitable Agriculture


नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (कार्यालय-3) की बैठक एवं हिंदी कार्यशाला का आयोजन


Record Crop Production during 2020-21


मंत्री और अधिकारियों का कृषि विज्ञान केन्द्र भाकृअनुप-भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ में भ्रमण

आज दिनाँक 17 जून, 2022 को श्री अजीत सिंह पाल जी, माननीय राज्य मंत्री, विज्ञान प्रौद्योगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स तथा सूचना प्रौद्योगिकी विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार, रिया केजरीवाल, मुख्य विकास अधिकारी (आई.ए.एस.), लखनऊ, श्री राजेश कुमार त्रिपाठी, परियोजना निदेशक, लखनऊ, डॉ. सुधीर कुमार शुक्ल, प्रधान वैज्ञानिक, भाकृअनुप-भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान लखनऊ, डॉ. अखिलेश कुमार दुबे, अध्यक्ष, कृषि विज्ञान केन्द्र भाकृअनुप-भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ तथा अन्य अधिकारियों के साथ कृषि विज्ञान केन्द्र की विभिन्न इकाईयों का भ्रमण किया एवं आम के पौधों का वृक्षारोपण भी किया ।

कृषि विज्ञान केंद्र, भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान लखनऊ द्वारा चलाए जा रहे प्रशिक्षण के माध्यम से लाभकारी दुग्ध शाला एवं पशुपालन प्रबंधन हेतु कृषक क्षमता निर्माण कार्यक्रम के तहत संतुलित “ दुधारू पशुओं में खनिज लवण मिश्रण खिलाने की महत्ता” विषय पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन श्री अजीत सिंह पाल जी, माननीय राज्य मंत्री, विज्ञान प्रौद्योगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स तथा सूचना प्रौद्योगिकी विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किया गया । कार्यक्रम के प्रारम्भ में डॉ. सुधीर कुमार शुक्ल, प्रधान वैज्ञानिक, भाकृअनुप-भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान लखनऊ ने माननीय राज्य मंत्री, मुख्य विकास अधिकारी, लखनऊ, उत्तर प्रदेश का स्वागत किया तथा संस्थान की विभिन्न गतिविधियों पर प्रकाश डाला । इस के उपरान्त कृषि विज्ञान केंद्र, भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ के प्रगतिशील कृषकों द्वारा लगाई गई प्रदर्शिनी का अवलोकन भी किया । कार्यक्रम के दौरान माननीय मंत्री महोदय ने किसानों को सम्बोधित करते हुये अपने सम्बोधन में कहा कि सरकार सदैव कृषकों के उत्थान के लिए प्रयासरत है, किसानों के विकास से ही देश का विकास संभव है, उन्होने बताया कि भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि देश के सभी किसानों के खाते में हर चार माह में किसानों के खाते में स्थानांतरित की जा रही है जिसका उपयोग किसान कृषि निवेश खरीदने में कर रहे हैं, यह राशि किसानों के लिए सम्बल के रूप में है । साथ ही सभी ग्रामीण वासियों को रहने के लिए पक्का मकान नि:शुल्क दिया जा रहा है । किसानों की आय दोगुनी करने के लिए भारत एवं उत्तर प्रदेश सरकार निरन्तर प्रयासरत हैं । सम्बोधन के अन्त में माननीय मंत्री महोदय ने कृषि विज्ञान के कार्यों की सराहना करते हुये कहा कि किसान कृषि विज्ञान केन्द्र से जुड़कर नवीनतम तकनीकी की जानकारी लें तथा उसे अपने खेतों में अपना कर अधिकाधिक लाभ लें । कार्यक्रम के अन्त में डॉ. अखिलेश कुमार दुबे, अध्यक्ष, कृषि विज्ञान केन्द्र भाकृअनुप-भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ ने कार्यक्रम में आये सभी आगन्तुकों एवं किसानों का धन्यवाद ज्ञापित किया । कार्यक्रम में केन्द्र के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी साहित 50 कृषकों ने प्रतिभाग किया ।

Complete Story...